scorecardresearch

मलेशिया के नए प्रधानमंत्री बने विपक्षी नेता अनवर इब्राहिम, कई बार सत्ता में आने से चुके, जेल में बिताए हैं लगभग 10 साल

मलेशिया के सुल्तान अब्दुल्ला अहमद शाह की मंजूरी के बाद अनवर इब्राहिम को देश का नया प्रधानमंत्री घोषित किया गया. सालों बाद अनवर के हाथ में देश की कमान आई है.

Anwar Ibrahim Anwar Ibrahim
हाइलाइट्स
  • जेल में बिताया लंबा समय 

  • सालों बाद मिली देश की कमान 

75 वर्षीय अनवर इब्राहिम मलेशिया के नए प्रधान मंत्री के रूप में शपथ ली है. एक लंबे अरसे बाद आखिरकार अनवर मलेशिया के प्रधानमंत्री बन ही गए. और मलेशिया को अपना 10वां प्रधानमंत्री मिल ही गया. अनवर की सत्ता में वापसी को लोग प्रेरक बता रहे हैं कियोंकि उन्होंने विपक्ष में लगभग तीन दशक बिताए हैं, जिनमें से 10 साल भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बिताए हैं. 

उनके पीएम बनने पर लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं. दलाई लामा ने भी उन्हें बधाई दी. ट्विटर पर लगातार मलेशियाई लोग अपनी भावनाएं शेयर करके खुशियां मना रहे हैं. एक ट्विटर यूजर लिखा कि जब मलेशिया के 10वें पीएम की घोषणा की गई थी तब वह एयरपोर्ट पर थे. उन्होंने लोगों को चीखते हुए सुना और सभी लोग बहुत खुश थे. 

कैसे हुई शुरुआत 
अनवर ने अपना राजनीतिक जीवन युवा संगठन अंगकाटन बेलिया इस्लाम मलेशिया (एबीआईएम) के संस्थापकों में से एक के रूप में शुरू किया. यूनाइटेड मलय नेशनल ऑर्गनाइजेशन (यूएमएनओ) में शामिल होने के बाद, लंबे समय तक सत्तारूढ़ बीएन गठबंधन में, अनवर ने 1980 और 1990 के दशक में लगातार सरकारों में कई कैबिनेट पदों पर कार्य किया. 

वह 1990 के दशक के दौरान उप प्रधान मंत्री और वित्त मंत्री थे और 1997 के एशियाई वित्तीय संकट के लिए मलेशिया की प्रतिक्रिया में प्रमुख थे. 1998 में, उन्हें प्रधान मंत्री महातिर मोहम्मद ने सभी पदों से हटा दिया और तब उन्होंने सरकार के खिलाफ सुधारवादी आंदोलन की अगुवाई की. 

जेल में बिताया लंबा समय 
अनवर को अप्रैल 1999 में सोडोमी और भ्रष्टाचार के मुकदमे के बाद जेल में डाल दिया गया था. इसकी कई मानवाधिकार समूहों और विदेशी सरकारों ने आलोचना की थी. हालांकि साल 2004 में उनकी सजा को खत्म कर दिया गया. इसके बाद उन्होंने 2008 में विपक्षी नेता के रूप में वापसी की. 

साल 2008 से 2015 तक विपक्ष के नेता के रूप में अनवर ने विपक्षी दलों को पाकतन राक्यत (पीआर) गठबंधन में शामिल किया. 2008 और 2013 के आम चुनावों में वह असफल रहे. साल 2014 में उन्होंने सत्ता में वापसी की कोशिश की लेकिन साल 2015 में दूसरी बाह उन्हें सोडोमी और भ्रष्टाचार के आरोप में पांच साल की कैद की सजा सुनाई गई. 

सालों बाद मिली देश की कमान 
जेल में रहते हुए भी, अनवर की अनुपस्थिति में नए गठबंधन पाकतन हरपन (PH) के तहत महातिर मोहम्मद पार्टी में फिर से शामिल हो गए. साल 2018 में इस पार्टी ने आम चुनाव में जीत हासिल की. अनवर को यांग दी-पर्टुआन एगोंग मुहम्मद वी से शाही क्षमादान मिला और उन्हें जेल से रिहा कर दिया गया. वह 2018 पोर्ट डिक्सन उप-चुनाव में संसद में लौटे, जबकि उनकी पत्नी वान अज़ीज़ा वान इस्माइल ने प्रशासन में उप प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया.

2020-22 मलेशियाई राजनीतिक संकट के दौरान गठबंधन के पतन के कारण मुहीदीन यासिन के नेतृत्व में नए पेरिकटन नेशनल (पीएन) गठबंधन को शपथ दिलाई गई और अनवर मई 2020 में दूसरी बार विपक्ष के नेता बने. हालांकि, यह सरका भी ज्यादा दिन नहीं चली और फिर हाल ही में, 2022 मलेशियाई आम चुनाव में सबसे अधिक सीटें लेकर, अनवर ने 24 नवंबर 2022 को मलेशिया के दसवें प्रधान मंत्री के रूप में शपथ ली.