scorecardresearch

7 बजे 7 सवाल

आधी रात में JNU क्यों बना जंग का मैदान? जानिए पूरा मामला

01 मार्च 2024

जेएनयू एक बार फिर से चर्चा में है, लेकिन हर बार की तरह इस बार भी वो गलत वजहों से ही चर्चा में है. कल आधी रात को जेएनयू कैंपस में छात्र गुटों के बीच हिंसक झड़प हो गई जिसमें कुछ स्टूडेंट्स जख्मी हो गए. कल रात को जो जेएनयू में हुआ उसने इस प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी के नाम पर दाग लगाने का काम किया. कल रात जेएनयू जंग का अखाड़ा बन गया जिसमें छात्रों ने एक दूसरे पर हमला करने के लिए लाठी डंडों का भी खुलकर इस्तेमाल किया.

55 दिन बाद कैसे गिरफ्तार हुआ संदेशखाली का 'गुनहगार'?

29 फरवरी 2024

55 दिनों तक जिसके इर्द गिर्द पूरे बंगाल की सियासत घूमती रही करीब, दो महीने तक जिसकी वजह से बंगाल गलत वजहों से पूरे देश में चर्चा का विषय बना रहा उस व्यक्ति तक आखिरकार कानून का पंजा पहुंच ही गया. संदेशखाली में दहशत और खौफ का पर्याय बन चुके शेख शाहजहां को आज गिरफ्तार कर लिया गया. आज सुबह बंगाल पुलिस ने खामोशी के साथ शाहजहां को मीना खान इलाके से गिरफ्तार कर किया.

मुख्यमंत्री सुक्खू की कुर्सी पर क्यों मंडरा रहे संकट के बादल?

28 फरवरी 2024

Himachal Pradesh Political Crisis: राज्यसभा चुनाव में वोटिंग के बाद हिमाचल की सियासत में तूफान खड़ा हो गया है. यहां कांग्रेस विधायकों की बगावत के बाद न केवल कांग्रेस को राज्यसभा की एक सीट से हाथ धोना पड़ा है बल्कि हिमांचल की सुक्खू सरकार पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं. कल कांग्रेस के 6 विधायकों और 3 निर्दलीय विधायकों के बीजेपी उम्मीदवार के पक्ष में मतदान करने से राज्य की विधानसभा में शक्ति संतुलन बदल गया है.

नफे सिंह मर्डर केस की जांच में अबतक पुलिस को क्या कुछ मिला?

27 फरवरी 2024

Nafe Singh Rathee Murder Case: बहादुरगढ़ में रविवार की शाम पूर्व विधायक नफे सिंह की दिनदहाड़े हत्या से हरियाणा में हड़कंप मचा हुआ है. सरेआम हुए इस हत्याकांड के तरीकों ने पुलिस महकमे को भी चौंका दिया है. पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और जो शुरूआती जानकारी सामने आ रही है वो हैरान करने वाली है. इस जघन्य हत्याकांड की जांच में जुटे पुलिस सूत्रों ने दावा किया है कि ऐसा हो सकता है कि नफे सिंह की हत्या को विदेश में बैठे गैंगस्टर्स के इशारे पर अंजाम दिया गया हो.

क्या CCTV से खुलेगा INLD नेता नफे सिंह की हत्या का हर राज?

26 फरवरी 2024

Nafe Singh Rathee Murder Case: कल शाम हरियाणा का बहादुरगढ़ का इलाका उस समय दहल गया जब इंडियन नेशनल लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई. प्रदेश के एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी के बड़े नेता की सरेआम हत्या से पूरे हरियाणा में सनसनी फैल गई. कल शाम नफे सिंह राठी अपने ड्राइवर और दो समर्थकों के साथ अपनी फॉर्च्यूनर कार से शाम में करीब पांच बजे बहादुरगढ़ लौट रहे थे. नफे सिंह जब बराही रेलवे फाटक के पास पहुंचे तो उस समय रेलवे फाटक बंद होने की वजह से उन्हें वहां रुकना पड़ा. इसी दौरान एक दूसरी कार में आए 4 शूटर्स ने उनकी गाड़ी को घेरकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी.

खनौरी बॉर्डर पर साथी किसान की मौत से भड़क उठे किसान संगठन, जानिए पूरी डिटेल

23 फरवरी 2024

Farmers Protest: बुधवार को खनौरी बॉर्डर पर एक युवा आंदोलनकारी शुभकरण सिंह की मौत के बाद भड़के किसान सगठनों ने आज सरकार के खिलाफ काला दिवस मनाने का ऐलान किया था. लिहाजा पंजाब के कई शहरों में आज आक्रोशित किसान सड़कों पर उतरे और काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया. अमृतसर में किसानों ने गोल्डन टेंपल के सामने प्रदर्शन किया और सरकार से दोषियों पर कार्रवाई की मांग की.

क्या गन्ना किसानों के लिए सरकार के ऐलान का आंदोलन पर होगा असर?

22 फरवरी 2024

Farmers Protest: पिछले दस दिनों से फसलों पर MSP गारंटी की मांग सहित अन्य मांगों को लेकर पंजाब के किसान संगठन आंदोलन पर हैं. किसान दिल्ली कूच की मांग को लेकर पिछले 10 दिनों से पंजाब हरियाणा के बॉर्डर पर जमे हैं. किसान संगठनों और सरकार के बीच चार दौर की बातचीत भी हो चुकी है लेकिन दोनों पक्ष अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके हैं. किसानों और सरकार के बीच जारी गतिरोध के बीच ही केंद्र सरकार ने किसानों के लिए एक अहम ऐलान किया है. कल कैबिनेट की बैठक में सरकार ने गन्ना किसानों के लिए तोहफे की घोषणा करते हुए गन्ने की MSP में 8 फीसदी का इजाफा कर दिया.

सरकार-किसानों के बीच पांचवें दौर की बातचीत से निकलेगा हल?

21 फरवरी 2024

Farmers Protest: किसानों और सरकार के बीच चार दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन नतीजा अब तक नहीं निकल सका है. हालांकि चौथे दौर में सरकार की तरफ से किसानों को 5 फसलों पर 5 साल के लिए MSP की गारंटी देने की पेशकश की गई थी लेकिन किसान संगठनों ने सरकार का ये प्रस्ताव ठुकरा दिया. किसानों ने आज दिल्ली की ओर बढ़ने का ऐलान किया था लेकिन आज फिर से सरकार ने किसानों को पांचवे दौर की बातचीत के लिए बुलाया है.

सरकार का प्रस्ताव ठुकराने के बाद अब क्या है किसानों का प्लान?

20 फरवरी 2024

Farmers Protest: सरकार और किसान सगंठनों के बीच मामला सुलझने की जगह और उलझ गया है. रविवार की रात सरकार की तरफ से जो प्रस्ताव किसान संगठनों को दिया गया था उसे किसान संगठनों ने सिरे से खारिज कर दिया है. किसान सगंठनों ने सरकार के प्रस्ताव पर विचार करने के लिए दो दिनों का समय मांगा था लेकिन किसान नेताओं ने 24 घंटे के अंदर ही प्रस्ताव को रिजेक्ट करने का फैसला सुना दिया.

चौथी बैठक में निकल गया समस्या का हल? सरकार ने किसानों ने सामने रखा ये प्रस्ताव

19 फरवरी 2024

Farmers Protest: कल रात चंडीगढ़ में किसान नेताओं और सरकार के बीच चौथे दौर की बातचीत हुई. ये बातचीत पिछले तीन दौर की बेनतीजा बातचीत से अलग साबित हुई. इस बैठक में सरकार की ओर से किसान संगठनों को एक नये फॉर्मूले की पेशकश की गई. कल रात लगभग पांच घंटे की चर्चा के बाद सरकार की तरफ से किसानों को एक प्रस्ताव दिया गया है. सरकार की तरफ से किसानों को कॉन्ट्रैक्ट के जरिए अरहर दाल, उड़द दाल, मसूर दाल और मक्के की फसल के लिए पांच साल के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी एजेंसियों के द्वारा खरीद का भरोसा दिया गया है.