scorecardresearch

7 बजे 7 सवाल

जानिए उदयपुर कन्हैया के कातिलों के हथियार का क्या है रहस्य

01 जुलाई 2022

कन्हैया हत्याकांड की तफ्तीश जैसे जैसे आगे बढ़ रही वैसे वैसे नए खुलासे सामने आ रहे हैं. आज खुलासा हुआ है हत्या में इस्तेमाल खौफनाक हथियार का. अब तक की जांच में सामने आया है कि कन्हैया की हत्या में एक खास किस्म के खंजर का इस्तेमाल किया गया था. ये भी पता चला है कि कातिलों ने कन्हैया के मर्डर के लिए फैक्ट्री में खुद हथियार तैयार किए थे. हमारे आज के सातों सवाल सामने आ रहे नए तथ्यों पर ही होंगे.

जानिए क्या है कन्हैया की हत्या का आतंकी कनेक्शन

30 जून 2022

उदयपुर में कन्हैया की हत्या को जितना सीधा सपाट मामला समझा जा रहा था. वो उतना सीधा नहीं है. जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है मामले की गहराई का अहसास हो रहा है. हमारे आज के सातों सवाल इस जघन्य हत्याकांड के तमाम पहलुओं पर ही केंद्रित हैं. देखिए 7 बजे 7 सवाल.

राउत के इमोश्नल वीडियो पर पड़ताल, जानिए क्या निकला नतीजा

29 जून 2022

महाराष्ट्र (Maharashtra) में चल रहे राजनीतिक संकट के बीच, शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो इंटरव्यू देते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो में राउत के चेहरे में दुख के भाव दिख रहे हैं. वीडियो देख कर ऐसा लग रहा है कि राउत रो रहे हैं. हमारी फैक्ट चेक टीम ने पाया कि ये झूठा दावा है. दरअसल ये वीडियो Aaj Takकी तरफ से लिए गए संजय राउत के इंटरव्यू का है. इस पूरे वीडियो को देखने पर ये साफ होता है कि संजय राउत रो नहीं रहे थे. इस वीडियो में स्नैपचैट का 'क्राइंग' फिल्टर का इस्तेमाल किया गया है. इस फिल्टर के इस्तेमाल से राउत इमोशनल नजर आ रहे हैं. वहीं ताज महल के बाहर गंदगी के अंबार के सामने एक लड़की का फोटो सपा नेता मनीष जगन अग्रवाल ने अपने ट्विटर पर शेयर किया. और योगी सरकार पर निशाना साधा. दावा किया गया कि फोटो में दिख रही लड़की विदेशी पर्यटक है. हमारी फैक्ट चेक की टीम ने ये पाया कि ताजमहल के पीछे खड़ी लड़की विदेशी नहीं है वो मणिपुर की हैं. अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता लिसीप्रिया कंगुजम ने खुद इसका रिप्लाई दिया है.

कन्हैया हत्याकांड की जांच में अब तक क्या?

29 जून 2022

उदयपुर में कन्हैया की दिल दहला देने वाली मौत के बाद से सवाल पुलिस की भूमिका को लेकर भी उठ रहे हैं. ये सवाल उठ रहे हैं कि पुलिस ने इस मामले में लापरवाही बरती जिसकी कीमत कन्हैया को जान देकर चुकानी पड़ी. दरअसल कुछ दिनों पहले ही कन्हैया लाल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया था जिसके बाद उन्हें कुछ स्थानीय लोगों ने धमकी दी थी. नाजिम नाम के एक शख्स ने शिकायत की थी जिसके बाद कन्हैया को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से कन्हैया को लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही थी. लगातार धमकी मिलने की वजह से कन्हैया ने कुछ दिनों तक अपनी दुकान बंद भी रखी थी. लेकिन जब उन्होंने अपनी दुकान खोली तो रियाज और गौस ने उन्हें तालिबानी तरीके से मौत के घाट उतार दिया. कन्हैया के परिवार वाले भी कह रहे हैं कि अगर पुलिस ने समय पर कार्रवाई की होती तो कन्हैया आज उनके बीच होते.

क्या महाराष्ट्र में नई सरकार बनाने का प्लान तैयार है ? जानिए

28 जून 2022

महाराष्ट्र के सियासी संकट की तस्वीर अभी साफ होनी बाकी है. दावे तो बहुंत हैं लेकिन कौन कहां है, किसके साथ है इसे लेकर अभी पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा नहीं जा सकता है. मगर पर्दे के पीछे खेल कई चल रहे हैं. भले शिवसेना के शिंदे गुट और बीजेपी के बीच खुले तौर पर बातचीत ना हो रही हो, लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि बीजेपी और शिंदे गुट के बीच सरकार बनाने की योजना तैयार हो रही है. इस कार्यक्रम में हमारे आज के सातों सवाल महाराष्ट्र के इसी महासंकट पर केंद्रित हैं. देखिए सात बजे सात सवाल.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से तय होगा महाराष्ट्र में सत्ता का फैसला !

27 जून 2022

महाराष्ट्र के सियासी संग्राम का एक और मोर्चा अब खुल गया है. जंग अब केवल सदन और सड़क की नहीं रह गई है. लड़ाई अब सुप्रीम कोर्ट तक आ गई है. महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर ने बागी 16 विधायकों को अयोग्यता से संबंधित नोटिस जारी कर दिया. बागी विधायक इस नोटिस के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए. कोर्ट ने 11 जुलाई तक नोटिस पर रोक लगा दी.

सरकार और पार्टी बचाने के लिए उद्धव का मंथन

24 जून 2022

शिवसेना के बागी विधायकों के अपने स्टैंड पर कायम रहने की वजह से शिवसेना का दो फाड़ होना निश्चित हो चुका है. उद्धव कैंप की बागियों को मनाने की तमाम कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं. उनकी तरफ से बागियों को दिया गया अल्टीमेटम खत्म हो गया है और उद्धव भी ये समझ चुके हैं कि बागियों के वापस लौटने की संभावना न के बराबर है इसलिए उन्होंने शिंदे समर्थक विधायकों पर कार्रवाई शुरु कर दी है. शिवसेना ने एकनाथ शिंदे की जगह अजय चौधरी को विधायक दल का नेता बना दिया है. इसके अलावा उन्होंने शिंदे कैंप के 16 विधायकों के खिलाफ कार्रवाई के लिए डिप्टी स्पीकर से गुजारिश की है. एकनाथ शिंदे के साथ अब शिवसेना के 2 तिहाई से ज्यादा विधायक हो गए हैं. ऐसे में शिंदे ने न केवल अपने 37 विधायकों के समर्थन वाली चिट्ठी जारी की है बल्कि उन्होंने डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल को पद से हटाने के लिए नोटिस भी दिया है.

शिंदे की बगावत के बाद उद्धव ठाकरे की सरकार का क्या होगा, जानिए

23 जून 2022

महाराष्ट्र का सियासी संकट और गहराता जा रहा है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भले ही इस्तीफा नहीं दिया है, लेकिन मौजूदा सूरत-ए-हाल में उनकी कुर्सी डांवाडोल दिखाई दे रही है. इसके साथ ही उद्धव बागी विधायकों से इमोशनल अपील कर चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई नतीजा नहीं आया है. उद्धव की इमोशनल अपील के जवाब में एकनाथ शिंदे ने आज बागियों के साथ पावर प्ले दिखा दिया. बागी विधायकों की तरफ एक चिट्ठी भी उद्धव को लिखी गई है.

एकनाथ शिंदे की बगावत, सीएम उद्धव का इमोशनल स्पीच, क्या है महाराष्ट्र की मौजूदा सियासी कहानी

22 जून 2022

महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम बहुत तेजी से बदल रहा है. बदले घटनाक्रम में एकनाथ शिंदे फ्रंटफुट पर खेल रहे हैं, जबकि शिवसेना बैकफुट पर नजर आ रही है. सीएम उद्धव ठाकरे फेसबुक लाइव के जरिए एकनाथ शिंदे से सवाल पूछा और कहा कि अगर उनको सीएम बनना है तो मेरे सामने आकर कहें. इस्तीफा दे दूंगा. आज के सातों सवाल महाराष्ट्र की सियासी उथल-पुथल से जुड़ी है.

महाराष्ट्र में गहराया सियासी संकट, जानिए क्या है एकनाथ शिंदे का प्लान

21 जून 2022

महाराष्ट्र की सियासत में कुछ चल रहा है. इसके संकेत तो तभी मिल गए थे, जब विधान परिषद चुनाव में क्रॉस वोटिंग हुई थी. लेकिन ये खिचड़ी इतनी जल्दी पक कर तैयार हो जाएगी. इसके बारे में किसी ने सोचा नहीं था. दरअसल शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे दो दर्जन से ज्यादा विधायकों के साथ सूरत पहुंच गए हैं. शिवसेना में भूचाल आ गया है. इतना ही नहीं, महाविकास अघाड़ी सरकार की परेशानी भी बढ़ गई है. आज के सातों सवाल महाराष्ट्र की सियासी हलचल से जुड़ी है.

अग्निपथ के विरोध में भारत बंद का कैसा रहा असर?

20 जून 2022

सेना में भर्ती के लिए शुरु की गई योजना अग्निपथ पर आज भी देश में बवाल जारी रहा. कई संगठनों की ओर से बुलाए गए भारत बंद का असर कुछ राज्यों में देखने को मिला. इस योजना का विरोध सोमवार को भी दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र, केरल, राजस्थान, बिहार समेत कई राज्यों में हुआ. भारत बंद के दौरान बिहार, झारखंड और बंगाल में स्कूल बंद रहे. 350 से ज्यादा ट्रेनों को बंद करना पड़ा. देखें 7 बजे 7 सवाल.