scorecardresearch

7 बजे 7 सवाल

आर्यन खान ड्रग्स केस की जांच कहां तक पहुंची? जानें

21 अक्टूबर 2021

मुंबई क्रूज ड्रग्स को लेकर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. कल अदालत से जमानत अर्जी खारिज होने के बाद आर्यन खान के वकील आज मुंबई हाईकोर्ट पहुंचे. लेकिन यहां भी उन्हें तत्काल राहत नहीं मिल सकी और मामले की सुनवाई के लिए 26 अक्टूबर की तारीख तय की गई है. आर्यन को जमानत मिलने में हो रही देरी को देखते हुए शाहरुख खान आज खुद आर्यन से मिलने के लिए आर्थर रोड जेल पहुंचे. उधर इस मामले में एनसीबी की टीम ने आज बॉलीवुड एक्ट्रेस अनन्या पांडे से पूछताछ की. ऐसे में सवाल है कि मुंबई क्रूज शिप ड्रग्स केस जांच कहां तक पहुंची है? देखिए ये रिपोर्ट.

अर्थव्यवस्था में सुधार फिर क्यों महंगाई की मार? देखें

20 अक्टूबर 2021

पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने जब 100 के आंकड़े को छुआ तो लगा था कि पेट्रोल डीजल की ये कीमतें अधिकतम हैं. लेकिन कुछ ही दिनों में ये अनुमान ध्वस्त हो गया और पेट्रोल-डीजल की कीमतें बेलगाम हो गईं हैं. इनकी कीमतों में लागातार इजाफा हो रहा है. कोरोना काल के बाद देश में लगातार अर्थव्यवस्था में सुधार हो रहा है. सेंसेक्स 60 हजार के पार हो चुका है. अमेरिकी संस्था मूडीज ने भारत की 'नेगेटिव' रेटिंग को बदलकर 'स्थिर' कर दिया है. आईएमएफ ने भारत की विकास दर 9.5 रहने का अनुमान जताया है. लेकिन इन सबके बावजूद महंगाई हर दिन नए रिकॉर्ड तोड़ रही है. ऐसे में सवाल है अर्थव्यवस्था में सुधार होने के बावजूद भी महंगाई क्यों बढ़ रही है. देखिए ये रिपोर्ट.

बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों का असर दोनों देशों के संबंधों पर पड़ेगा? देखें

19 अक्टूबर 2021

बांग्लादेश की आजादी को 50 साल हो चुके हैं. आजादी के 50 साल के बाद आज बांग्लादेश अपने कई पड़ोसी मुल्कों से बेहतर अर्थव्यवस्था के साथ तेजी से प्रगति की राह पर है. लेकिन कोई एक चीज है जो इन पचास सालों में भी खत्म नहीं हो सकी है तो वो है अल्पसंख्यकों में असुरक्षा की भावना. आज भी अल्पसंख्यकों पर हमले बदस्तूर जारी हैं. रविवार को उपद्रवियों ने हिंदुओं के 20 से ज्याद घर फूंक दिए और 60 से ज्यादा घरों में तोड़फोड़ और लूटपाट की. इस घटना के पीछे एक सोशल मीडिया पोस्ट को कारण बताया जा रहा है. ऐसे में सवाल है कि इस हिंसा से क्या दोनों देशों के संबंधों पर असर पड़ेगा? देखिए ये रिपोर्ट.

कश्मीर में माहौल बिगाड़ने की साजिश, आतंकियों ने बाहरी मजदूरों को बनाया निशाना

19 अक्टूबर 2021

जम्मू-कश्मीर में निर्दोष कामगारों की हत्या का सिलसिला जारी है. आतंकी चुन चुन कर ऐसे लोगों को निशाना बना रहे हैं. जो घाटी में बाहर से कमाने के लिए आए हैं और छोटे छोटे काम या कारोबार से अपना और अपने परिवार का पेट पाल रहे हैं. आतंकियों ने सोमवार को एक बार फिर से बिहारी मजदूरों को निशाना बनाया और दो मजदूरों की गोली मार कर हत्या कर दी. अक्टूबर महीने में ही अभी तक आतंकियों ने 11 लोगों की हत्या कर दी है.

CSK vs KKR: IPL फाइनल में किसका पलड़ा है ज़्यादा भारी? जानें

15 अक्टूबर 2021

आज उत्सव के डबल डोज वाला दिन है. एक तरफ जहां पूरे देश में विजयादशमी का उत्सव मनाया जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ आज आईपीएल का फाइनल खेला जा रहा है. चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच दुबई में फाइनल मुकाबला खेला जा रहा है. इस महामुकाबले का टॉस हो चुका है और कोलकाता ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया है. इस फाइनल को जीतने के लिए दोनों टीमों ने खास रणनीति बनाई है. एक तरफ 3 बार की चैंपियन चेन्नई है तो दूसरी तरफ कोलकाता के बाज़ीगर हैं. ऐसे में सवाल है कि IPL के फाइनल में किसका पलड़ा भारी है. देखिए ये रिपोर्ट.

गति शक्ति योजना से कैसे बदलेगी देश की तस्वीर? जानें

14 अक्टूबर 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'पीएम गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान' की शुरुआत के मौके पर कहा कि ये प्लान 21वीं सदी के भारत को गति प्रदान करेगा. मतलब ये कि समन्वय की कमी से जूझ रहे सरकारी विभागों को इस नेशनल प्लान से बहुत उम्मीद है. इसके अंतर्गत गति शक्ति योजना के लिए 16 मंत्रालयों का एक ग्रुप बनाया गया है, जो मुख्यतः आधारभूत संरचनाओं से संबंधित है. इसमें रेलवे, सड़क परिवहन, पोत, आईटी, टेक्सटाइल, पेट्रोलियम, ऊर्जा, उड्डयन जैसे मंत्रालय शामिल हैं. इन मंत्रालयों के जो प्रोजेक्ट चल रहे हैं उन सबको गति शक्ति योजना के तहत डाल दिया जाएगा जिससे की ये योजनाएं समय से पूरी हो जाएं. अभी परिवहन के साधनों और अलग-अलग विभाग के इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के बीच कोई समन्वय नहीं है. गति शक्ति योजना इन सभी बाधाओं को दूर करेगी जिससे की प्रोजेक्ट समय से पूरे हो सकें. आज GNT स्पेशल में जानें गति शक्ति योजना से कैसे बदलेगी देश की तस्वीर.

पेट्रोल-डीजल के बाद सीएनजी-पीएनजी की कीमतों में इजाफा, क्या त्योहारों का मजा फीका कर रही है महंगाई?

13 अक्टूबर 2021

देश में त्योहारों की शुरुआत हो चुकी है लेकिन त्योहारों के मौसम में आम लोगों के घरों में मायूसी छाई हुई है. ऐसा इसलिए है क्योंकि बढ़ती महंगाई ने त्योहारों की खुशी को फीका कर दिया है. पेट्रोल-डीजल तो पहले ही देश के कई शहरों में सेंचुरी लगा चुका था और अब सीएनजी और पीएनजी की भी कीमतों ने आसमान छूना शुरु कर दिया है. इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड ने आज से दिल्ली-एनसीआर समेत कई शहरों में सीएनजी और पीएनजी के दाम में इजाफा कर दिया है. पहले से ही महंगाई की मार झेल रहे लोगों को सीएनजी की कीमतों ने जोर का झटका दिया है. ऐसे में सवाल ये है कि क्या महंगाई त्योहारों का मजा फीका कर रही है? देखिए ये रिपोर्ट.

J&K: क्या कश्मीर में सरकार की नीतियों से बौखला गए हैं आतंकी? देखें

12 अक्टूबर 2021

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर से आंतकी अपना सिर उठाने लगे हैं. अपनी रणनीति में बदलाव करके वो नए सिरे से घाटी में दहशत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके लिए उन्होंने गैर मुसलमानों को निशाना बनाना शुरु कर दिया है. आंतकी अब घाटी में मुख्य रुप से हिंदुओं और सिखों पर हमला कर रहे हैं. गुरुवार को आतंकियों ने एक स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल और टीचर की हत्या कर दी. प्रिंसिपल सुपिंदर कौर सिख और शिक्षक दीपक चंद कश्मीरी पंडित थे. आंतकियों ने पिछले 10 दिनों में घाटी में 7 लोगों की हत्या कर दी है जिसमें श्रीनगर के बड़े दवा व्यवसायी माखनलाल बिंद्रू भी शामिल हैं. इस साल अब तक राज्य में आतंकियों ने 25 बेगुनाह लोगों की हत्या की है. ऐसे में सवाल ये है कि क्या कश्मीर में सरकार की नीतियों से बौखलाए हैं आतंकी? देखिए ये रिपोर्ट.

महाराष्ट्र बंद: सत्ताधारी दल ने अपने ही राज्य में क्यों बुलाया बंद, कैसा रहा असर?

11 अक्टूबर 2021

महाराष्ट्र में आज बंद बुलाया गया. ये बंद किसी विपक्षी दल के द्वारा नहीं बल्कि सत्ताधारी दलों के द्वारा बुलाया गया था. महाराष्ट्र महाविकास अघाड़ी सरकार के तीनों दलों, यानी कांग्रेस, NCP और शिवसेना ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की हत्या के विरोध में आज महाराष्ट्र में राज्यव्यापी बंद बुलाया था. सत्ताधारी दल ने अपने ही राज्य में क्यों बुलाया बंद? देखें 7 बजे 7 सवाल.

कौन है जो लखीमपुर हिंसा के आरोपियों को को बचा रहा? देखें

08 अक्टूबर 2021

3 अक्टूबर को लखीमपुर में किसानों को कुचलने के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा का नाम सामने आने के बाद आज 6 दिनों के बाद भी आशीष पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. आशीष मिश्रा के साथ साथ अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास का भी नाम सामने आ रहा है. कहा जा रहा है कि अंकित दास भी किसानों को कुचलने वाली गाड़ियों में मौजूद था. लेकिन ये दोनों आरोपी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर हैं. इसके अलाव चश्मदीद सुमित जायसवाल और 4 लोगों की पीट कर हत्या करने वाले आरोपियों को भी पुलिस नहीं पकड़ पाई है. ऐसे में सवाल ये है कि राज्य सरकार की सख्ती के बाद भी कौन है जो आरोपियों को बचा रहा है.

श्रीनगर में आतंकियों ने की दो टीचर्स की हत्या, क्या घाटी को फिर से अशांत करने की है साजिश? देखें

07 अक्टूबर 2021

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में गुरुवार को आतंकवादियों ने ईदगाह के संगम इलाके में बने गवर्नमेंट ब्वॉयज स्कूल में ताबड़तोड़ फायरिंग की और इस दौरान स्कूल में मौजूद दो लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी. मरनेवालों में स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और कश्मीरी पंडित शिक्षक दीपक चंद हैं. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आतंकियों ने दोनों शिक्षकों पर नजदीक से गोलियां दागीं. इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है. दो दिन पहले मंगलवार को भी आतंकवादियों ने एक कश्मीरी पंडित, माखनलाल बिंदरू की हत्या कर दी थी. ऐसे में सवाल है, क्या घाटी को फिर से अशांत करने की साजिश रची जा रही है? देखें