scorecardresearch

साइंस

Corona Virus

सर्दियों में आ सकती है कोरोना महामारी की नई लहर, इन देशों में तेजी से बढ़ रहे केस

04 अक्टूबर 2022

शोधकर्ताओं ने सर्दियों में कोरोना महामारी की नई लहर आने का अनुमान लगाया है. दरअसल अमेरिका और यूरोपीय देशों में पिछले कुछ महीनों में कोरोना के मामलों में तेजी आयी है. जिसे देखते हुए वैज्ञानिकों ने नई लहर आने का अनुमान लगाया है.

John Clauser, Alain Aspect and Anton Zeilinger

इन तीन वैज्ञानिकों को मिला क्वांटम टेक्नोलॉजी में रिसर्च के लिए Nobel Prize, साल 1972 में शुरू किया था ये शोध

04 अक्टूबर 2022

Nobel Prize 2022: इस बार फिजिक्स में तीन लोगों को सम्मिलित रूप से नोबेल प्राइज मिला है. इसमें एलेन एस्पेक्ट (Alain Aspect), जॉन क्लॉसर (John Clauser) और एंटोन जिलिंगर (Anton Zeilinger) को नाम शामिल है. 2022 का नोबेल पुरस्कार क्वांटम टेक्नोलॉजी में रिसर्च के लिए मिला है.

fearful memory is often remembered ever

आखिर क्यों डरावनी यादें हमारा पीछा नहीं छोड़ती हैं? वैज्ञानिकों ने खोज निकाली वजह

04 अक्टूबर 2022

कई बार लोगों को भयभीत करने वाले पल उनका पीछा नहीं छोड़ते. मन चाहे कितनी भी कोशिश कर ले बुरी यादों को भुलाने की लेकिन दिमाग से मात खा ही जाता है. ऐसा क्यों होता है चलिए जानते हैं.

SUN

क्या होता है जब सूर्य 'सोया' रहता है? भारत के वैज्ञानिकों ने बताई ये बात

04 अक्टूबर 2022

IISER के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस इन स्पेस साइंसेज इंडिया ने एक रिसर्च की है जिसमें उन्होंने पता लगाया है कि आखिर जब सूर्य सो जाता है तो क्या होता है? इस रिसर्च में उन्होंने पाया कि सूरज कभी नहीं सोता है, जब उसकी गतिविधियां बहुत कम हो जाती हैं तब भी उसकी मैग्नेटिक साइकिल एक्टिव रहती है.

6th sea on earth

पृथ्वी के गर्भ में मिला दुनिया का छठा महासागर, सभी समुद्रों से तीन गुना बड़ा

03 अक्टूबर 2022

शोधकर्ताओं की एक टीम ने पृथ्वी के सतह से 660 किमी अंदर छठा महासागर की खोज की है. इस खोज के साथ ही वैज्ञानिकों को पृथ्वी की आंतरिक संरचना को जानने में अब और मदद मिलेगी. शोधकर्ताओं ने पृथ्वी के गर्भ में खोजे गए महासागर के सतह से पानी से बना हुआ हिरा पाया है.

Svante Paabo

कुछ ऐसे शुरू हुआ था Nobel Prize विनर वैज्ञानिक Svante Paabo का सफर, लिवर से निकाला था DNA

03 अक्टूबर 2022

Nobel Prize Winner Svante Paabo: स्वीडिश वैज्ञानिक स्वांते पाबो को नोबेल प्राइज दिया गया है. ये प्राइज उन्हें विलुप्त हो चुकी प्रजातियों निएंडरथल और डेनिसोवन के जीनोम की तुलना आधुनिक युग के इंसानों से करने पर मिला है. स्वीडिश वैज्ञानिक अभी 67 साल के हैं.

Mangalyaan was launched in 2013 onboard PSLV-C25. (Photo: Isro/Representative)

ISRO का मंगलयान मिशन खत्म, जानिए आगाज से अंत की पूरी कहानी

03 अक्टूबर 2022

Mangal Mission: मंगल पर भारत के पहले अभियान मंगलयान की यात्रा समाप्त हो गई है. बताया जा रहा है कि मार्स ऑर्बिटर मिशन (MOM) में फ्यूल खत्म हो गया है, जिससे इसका मंगल ग्रह की कक्षा में फिर से जीवित करना चुनौतीपूर्ण हो गया है.

Covid 19

महामारी की वजह से लोगों की पर्सनैलिटी में आए हैं बदलाव, लोगों में आए हैं ये चेंज

30 सितंबर 2022

PLOS ONE की इस रिसर्च में 7 हजार लोगों को शामिल किया गया. इस रिसर्च में लोगों की पर्सनैलिटी को चेक किया गया. रिसर्च में सामने आया कि कोविड-19 महामारी के बाद लोगों की पर्सनैलिटी में कई बदलाव आए हैं.

Dog

इंसानों के तनाव को भी भांप सकते हैं कुत्ते, जानिए कैसे लगाते हैं इस बात का पता

29 सितंबर 2022

कुत्ते इंसान की मनोवैज्ञानिक अवस्थाओं का मतलब समझ सकते हैं. यह अपनी तरह की पहली स्टडी है और यह सबूत देती है कि कुत्ते अकेले सांस और पसीने से ही इंसान में तनाव को सूंघ सकते हैं. ये स्टडी इंसान और कुत्ते के रिश्तों को और अधिक बेहतर तरीके से समझने में भी मदद करती है.

Birds (Representative Image)

पक्षियों का दिमाग होता है बड़े जानवरों से ज्यादा तेज, ब्राजील में मिला 8 करोड़ साल पुराना जीवाश्म 

28 सितंबर 2022

ब्राजील में 8 करोड़ साल पुराना पक्षी का जीवाश्म (Fossil) मिला है. इसकी जब जांच की गई तो पाया कि यह कि इसकी खोपड़ी में एडवांस ब्रेन स्ट्रक्चर की छाप मिली है. हालांकि, इससे पहले भी कई स्टडी ऐसी हुई हैं जिनमें सामने आया है कि पक्षियों का दिमाग काफी तेज होता है.

NASA DART Mission: एस्टेरॉयड से टकराया सैटेलाइट, पृथ्वी को बचाने का मिशन सफल

27 सितंबर 2022

धरती को महफूज बनाने के मिशन के पहले पड़ाव को कामयाबी के साथ पार कर लिया गया. नासा का सैटेलाइट अंतरिक्ष में घूम रहे एस्टेरॉयड से तय वक्त पर टकरा गया. इस टक्कर से एस्टेरॉयड को भटकाने की कोशिश की गई. नासा अब टकराव के बाद एस्टेरॉयड की कक्षा में बदलाव की स्टडी कर रहा है. इस मिशन की कामयाबी पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी हैं, क्योंकि इसी मिशन से धरती की हिफाजत का रास्ता निकलेगा.